मुख्यमंत्री को स्तीफा दे देना चाहिए बृजलाल खाबरी भोपाल में दलितों किसान को जिंदा जलाने की घटना से दुखी।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के नजदीकी गांव परसोरिया में भजपा के मंडल पदाधिकारी तीरथ सिंह ने अपने साथियो के साथ पेट्रोल डाल कर दलित किसान को जिंदा जला दिया. पुलिस ने 4 आरोपियों को हिरासत में लिया है. ये मामला बैरसिया थाने के परसोरिया गांव में गुरुवार का है. खबरों के मुताबिक, यहां किशोरी लाल नाम का 60 साल का दलित किसान जब अपने खेत पहुंचा तो उसने देखा कि कुछ लोग जुताई कर रहे हैं. उसने इसका विरोध किया तो दबंगों ने पहले उसके साथ मारपीट की और बाद में पेट्रोल डालकर आग लगा दी.किसान ने अस्पताल में दम तोड़ दिया ।

. इस घटना की जानकारी जैसे ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के अनुसूचित जाति विभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व सांसद एवं मध्य प्रदेश के पर्यवेक्षक माननीय को लगी तत्काल कांग्रेस पार्टी के पर्यवेक्षक माननीय सिद्धार्थ परमार जी एवं मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी विवेक यादव युवा नेता जितेन्द्र सिंह जाटव देवेंद्र सुरवंसी साथ में स्थानीय नेतायों के साथ तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से मुलाकात की माननीय बृजलाल खाबरी जी ने पीड़ित परिवार के साथ आत्मीयता से मिले आश्वासन दिया कि पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाएगा ।

खाबरी जी ने मिडिया से चर्चा में कहा की भाजपा सरकार द्वारा एससी एसटी एक्ट को कमजोर करने के कारण आज देश में लगातार दलित समाज के ऊपर अत्याचार हो रहा है इस तरह की घटनाएं आरोपियों द्वारा की जा रही है इन सब घटनाओं की वजह है भाजपा सरकार दलित पिछड़े समाज को आपस में लड़ा कर फिर से 2018 में सरकार बनाने के उद्देश्य से आपस के भाईचारे को खत्म करने का काम कर रही है बेरसिया में पेट्रोल डालकर दलित किसान को जिंदा जलाने की घटना करने वाला आरोपी भाजपा का कार्य करता है जिस कारण से उसे सरकार का संरक्षण प्राप्त होने के कारण इतने बड़े अपराध को करने की हिम्मत मिली खाबरी जी ने कहा की इस घटना से में बहुत दुखी हु भजपा सरकार में किसी इंसान जिन्दा जला दिया जाये उस सरकार के मुख्यमंत्री को स्तीफा दे देना चाहिए ।
कांग्रेस पार्टी इस अमानवीय कृत्य की घोर निंदा करती है मांग करती है पीड़ित परिवार को 10000000 रुपए का मुआवजा दिया जाए साथ ही परिवार के लोगों को शासकीय नौकरी दी जाए और इस तरह की पुनरावृत्ति ना हो।
बैरसिया पुलिस ने गुरुवार देर रात चार आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया. भोपाल के पुलिस उपमहानिरीक्षक (DIG) धर्मेंद्र चौधरी ने शुक्रवार को बताया, चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उन पर SC-ST एक्ट के साथ हत्या का मामला दर्ज किया गया है.आरोपियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी ।
परिवार वालों के मुताबिक, किशोरी लाल को साल 2000 में सरकार की ओर से पट्टे पर जमीन मिली थी लेकिन गांव के दबंग इस जमीन पर कब्जा करना चाहते थे, जिसका किशोरी लाल विरोध कर रहा था. इसी वजह से उसे जिंदा जलाकर मार दिया गया.।

Categories: uncategorized

Comments are closed