मैं हड़ताल करने वाले कर्मचारियों को एक धेला भी नहीं दूंगा:मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने यह बयान ट्वीट के जरिए दिया है। शायद यह पहली बार है जब शिवराज सिंह चौहान ने इस तरह का कोई ट्वीट किया है। उन्होंने हिंदी में लिखा है ‘हड़ताल में शामिल नहीं होने वाले रोज़गार सहायकों का मानदेय 7 से 9 हज़ार कर दिया गया है। मैं हड़ताल में शामिल लोगों को एक धेला भी नहीं दूंगा!’

बता दें कि शिवराज सिंह की तीसरी पारी की शुरूआत ही विरोध, विवाद और हड़तालों से हुई है। अध्यापक संविलियन एवं 6वें वेतनमान के लिए हड़ताल कर रहे हैं। आधा दर्जन बार शिवराज सिंह ऐलान भी कर चुके हैं परंतु गणनापत्रक आज तक जारी नहीं हुआ। सरपंच अपने पंचायती अधिकारों के लिए हड़ताल पर हैं। उनके साथ जिला एवं जनपद पंचायतों के जनप्रतिनिधि भी हड़ताल पर थे। पंचायत सचिवों ने हड़ताल की तो सरकार ने रोजगार सहायकों का वेतन बढ़ाकर दवाब बनाने की कोशिश की परंतु सरकार सफल नहीं हो पाई।

Categories: मुख्य समाचार

Comments are closed