हैडलाइन

गरिब किसान को मिला 20 लाख का हीरा आप भी आजमा सकते हे अपनी किस्मत ।

मध्य प्रदेश का पन्ना जिला हीरो की नगरी के नाम से प्रसिद्ध है यहां पर कब कौन करोड़पति बन जाए कुछ नहीं कहा जा सकता इस हीरो की नगरी में बरसात का मौसम आते ही हीरे निकलना चालू हो जाते हैं बरसात में पहाड़ों से मिट्टी धूल कर आती है जिसमें कीमती रत्न हीरे भी मिट्टी में धुल जाते हैं और आम नागरिकों को ग्रामीणों को भी मिल जाते हैं पन्ना में आप हीरो की खदान लगाना चाहते हैं तो बहुत ही कम कीमत में हीरा विभाग द्वारा हीरा खदान के पट्टे 1 वर्ष के लिए  दिए जाते हैं मात्र 400 रू से लेकर खदान की साइज के हिसाब से  पट्टी दिए जाते हैं । बाकी सब किस्मत का काम होता है आपकी अगर किस्मत अच्छी है तो आप को करोड़ों का भी हीरा मिल सकता है और किस्मत अच्छी नहीं है तो करोड़ों खर्च होने के बाद भी हीरा नहीं मिलता।

ऐसा ही कुछ दिन पहले हुआ कि एक आम किसान को 20 लाख का हीरा मिला और उसकी किस्मत चमक गई खुदाई के दौरान करीब 20 लाख रुपए की कीमत का हीरा मिला है। यहां कोई भी 250 रुपए सलाना पर खान लीज पर ले सकता है। लगातार खेती में नुकसान होने पर स्थानीय निवासी सुरेश यादव (40) ने खान को किराए पर लेने का फैसला लिया। मी़डिया से बात करते हुए सुरेश ने बताया, ‘मैं खेती कर अपने परिवार की आर्थिक स्थिति नहीं सुधार पर रहा था। क्योंकि असंतुलित मौसम के कारण यहां खेती करना बहुत मुश्किल होता है। बीते साल छोटा सा खेत मैंने अपने बेटे को सौंप दिया और किस्मत अजमाने के लिए पाती कृष्णा क्लयाणपुरा में खान लीज पर लेने का मन बना लिया। क्योंकि मुझे अपने परिवार को पालने के लिए दूसरे के खेतों में खेती करनी पड़ती थी और सुबह-शाम खुदाई करनी पड़ती थी।’ जानकारी के अनुसार बीते सप्ताह यादव को कंकड़ के आकार का एक हीरा मिला। जिसने यादव की किस्मत को हमेशा के लिए बदल दिया। जांच में हीरा 5.82 कैरेट का बताया गया है। हीरा व्यापारियों का मानना है कि हीरे की कीमत कीब 15 से 20 लाख रुपए के बीच हो सकती है। जिला खनन अधिकारी संतोष सिंह ने बताया, ‘एक्पर्ट का मानना है कि संतोष को हीरे की अच्छी कीमत मिल सकती है। इसे सरकारी मापदंडों के आधार पर नीलाम किया जाएगा।’ जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले भी साल 2015 में स्थानीय निवासी अनंत सिंह यादव को भी खुदाई के दौरान 12.93 कैरेट का हीरा मिला था। जिसकी हीरा व्यपारी ने प्रति कैरेट दो लाख रूपए के हिसाब से कीमत लगाई थी।
मामले में पन्ना के जिला अधिकारी ने बताया कि यहां जिसे भी हीरा मिलता है। उसे हीरा अपने पास रखने की अनुमति नहीं है। और ना ही कहीं और ले जाने की स्वतंत्रता है। यहां डायमंड अधिकारी की मदद से हीरे की नीलामी की जाती है। इसमें नीलामी में मिली रकम का 11.5 फीसदी राज्य सरकार को देना होता जबकि बाकि हिस्सा हीरे के मालिक को दिया जाता है।  पर पटना में पाए जाने वाला ज्यादातर हीरा काला बाजार में बेचा जाता है बहुत  कम लोग       हीरो को जमा कराते हे ।

अगर आप भी पन्ना में हीरा खदान में अपनी किस्मत आजमाना चाहते हैं तो निम्न नंबर पर संपर्क कर सकते हैं बहुत ही कम लागत में आपको खदान दिलाई जाएगी। 8827062445

Categories: uncategorized

Leave A Reply

Your email address will not be published.